​              National Voters Day 2024: हर साल राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है ?
   
 

National Voters Day 2024: हर साल राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है ?

Mkyadu
3 Min Read

National Voters Day 2024: हर साल भारत के किसी न किसी राज्य में विधानसभा चुनाव होते रहते हैं, जिसके बाद हर पांच साल में लोकसभा चुनावों की भी तैयारीयां शुरू हों जाती है.

Whatsapp Channel
Telegram channel

अब बस कुछ ही महीने में लोकसभा चुनाव भी होने जा रहे हैं. जिसकी पूरी जिम्मेदारी भारत के चुनाव आयोग की होती है,जो की देश के सभी लोगों को वोट डालने के लिए जागरुक भी करता है.

इसी बीच अब 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस (National Voters Day 2024) भी मनाया जाएगा. देशभर में इस दिन अलग-अलग जगहों पर कईयों कार्यक्रम होते हैं और जिसका उद्देश्य लोगो को वोट डालने के लिए प्रेरित करना रहता है. तो आइए हम जानते हैं कि 25 जनवरी को ही हर साल National Voters Day क्यों मनाया जाता है.

कब से शुरू हुआ मतदाता दिवस?(When did Voter’s Day start?)

दरअसल भारत के चुनाव आयोग की स्थापना 25 जनवरी 1950 को ही हुई थी, फिर वह 26 जनवरी को देश के संविधान में लागू हो पाया. पहले सिर्फ इस दिन को याद किया जाता था, लेकिन साल 2011 से इसको एक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

पहली बार साल 2011 में 25 जनवरी को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया. इसी के बाद से हर साल 25 जनवरी को पूरे देश में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाने लगा है.

युवा वोटर्स में जागरूकता लाने का काम

National Voters Day का प्रमुख उद्देश्य नागरिकों में चुनाव के प्रति जागरुकता पैदा करना और उन्हें इसकी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना है.

देश के सभी मतदाताओं को समर्पित इस राष्ट्रीय मतदाता दिवस का उपयोग मतदाताओं, खासतौर पर नए युवा मतदाताओं के नामांकन की सुविधा हेतु किया जाता है।

National Voters Day के खास मौके पर कई जगहों पर कैंप लगाए जाते हैं और पहली बार वोट डालने वाले वोटर्स को उनका मतदाता फोटो पहचान पत्र प्रदान किया जाता है.

युवाओं के लिए कई स्थानों पर सेल्फी प्वाइंट भी लगाए जाते हैं. भारत इस बार 14 वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने जा रहा है. इसके लिए चुनाव आयोग तैयारियों में जुटा है।

Share This Article