​              राष्ट्रगान के समय क्रिकेटर छोटे बच्चों को साथ में लेकर क्यूँ आते हैं? जानते हैं आप...
   
 

राष्ट्रगान के समय क्रिकेटर छोटे बच्चों को साथ में लेकर क्यूँ आते हैं? जानते हैं आप…

Mkyadu
2 Min Read

 

Whatsapp Channel
Telegram channel

क्रिकेट दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल बन चुका है,जिसके पल पल की अपडेट पाने के लिए लोग टकटकी लगाए रहते हैं,लेकिन कई बार आपने मैच के दौरान कुछ ऐसी चीजे भी देखी होंगी, जिसकी वजह से आपने मन में सवाल आया होगा की ऐसा क्यों हो रहा है?

कुछ बड़े टूर्नामेंट जैसे वर्ल्डकप, चैंपियंस ट्रॉफी आदि मैच के शुरुआती पलों में, दोनों टीमों के सभी खिलाड़ी छोटे छोटे बच्चो का हाथ पकड़े हुए मैदान पर आते है. 

फिर बारी बारी से दोनों टीमों का राष्ट्रगान गाया जाता है. ऐसी प्रथा सबसे पहले फुटबॉल मैचों से शुरू की गई थी. लेकिन अब यह अन्य खेलों में भी शामिल हो चूका है.

आमतौर पर ये सभी बच्चें उसी राज्य,शहर या देश के होते है जहाँ से मैच का आयोजन किया जाता है। आइए जानते है कि ऐसा क्यों होता है?

सबसे पहला कारण: 

इस तरह की प्रथा अनाथ बच्चों वा NGO के बच्चों तथा ऐसे ही कुछ असाधारण बच्चों के लिए शुरू हुई थी, जिससे NGO को भी कुछ सहायता राशि मिल जाती है, इसे एक तरह से चैरिटी का पार्ट भी कह सकते हैं.

इसका दूसरा कारण:

हम सभी जानते हैं की बच्चे मन के सच्चे होते हैं और उनके मन में किसी के लिए ईर्ष्या भाव नहीं होती.

 ऐसे में इन सभी बच्चों का खिलाडियों के साथ आने का अर्थ ये भी रहता है की, मैच के दौरान खिलाडी खेल भावना को बनाये रखे अगर खेल के समय कोई भी खटपट हो जाए तो उसे दिल से न लगाकर, बच्चों की तरह भूल जाये और दोस्ती बनाकर ईमानदारी से खेल खेले.

Share This Article
Leave a comment