​        डिप्रेशन के शिकार पुरुषो में दिखते है ये 5 लक्षण, जानें क्या है इससे बचाव के उपाय..
   
 

डिप्रेशन के शिकार पुरुषो में दिखते है ये 5 लक्षण, जानें क्या है इससे बचाव के उपाय..

Mkyadu
4 Min Read

  व्यक्ति जब डिप्रेशन का शिकार होता है तो उसके मन में उथल पुथल होने लगता है, किसी भी काम में उसका मन नहीं लगता है।आइए जानते हैं डिप्रेशन के शिकार पुरुषों में क्या लक्षण दिखने लगता है।

Whatsapp Channel
Telegram channel

आजकल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोगो में काम और प्रेशर को लेकर तनाव का माहोल रहता है, कुछ अपने करियर को लेकर काफी गंभीर होते हैं,वे करियर को आगे बढ़ाने के लिए लगातार कई घंटों तक काम करते हैं। 

इस स्थिति में बॉडी और ब्रेन को आराम नहीं मिल पाता और वह थक जाता है।जिसके कारण पहले स्ट्रेस और फिर बाद में अपनी इच्छा के अनुरूप परिणाम न मिलने पर वह डिप्रेशन में जाने लगता है।ऐसी परेशानी महिलाओं व पुरुषों दोनों में हो सकती है।

डिप्रेशन के शिकार पुरुषों में लक्षण क्या दिखाई देते हैं?(What are the symptoms seen in men suffering from depression?) – 

> गुस्सा और चिड़चिड़ापन

डिप्रेशन की स्थिति में पुरुष थोड़ा चिड़चिड़ा हो जाता है और गुस्से के जरिए अपनी परेशानी व्यक्त करता है।एक ही तरह की बात को बार-बार सोचता है। लोगों से बातचीत में दूरी बनाने लगता है,और छोटी छोटी बातो पर गुस्सा करने लगते हैं। 

>पाचन क्रिया पर प्रभाव पड़ता है

डिप्रेशन का प्रभाव ब्रेन फंक्शन पर पड़ता है।इससे पेट में दर्द और पाचन क्रिया स्लो होने जैसे लक्षण दिखने लगते हैं।

 >अकेले रहने लग जाते हैं

डिप्रेशन में जकड़ा पुरुष सामाजिक दूरी बनाने लग जाता हैं। दूसरे लोगों से उसका मेल जोल कम होने लगता है,साथ ही वे पार्टी या समारोह में जाना भी पसंद नहीं करते। यदि, वे पार्टी में चले भी जाए तो वहां उनका मन भी नहीं लगता ।

>नींद में परेशानी

डिप्रेशन जैसी स्थिति से नींद की भी परेशानी हो सकती है,अनिद्रा के चलते डिप्रेशन,सर दर्द जैसे लक्षण बढ़ सकते हैं, ध्यान केंद्रित करने में भी कठिनाई होती है।

>काम में मन नहीं लगता

 पुरुष डिप्रेशन में अपने काम पर ठीक से फोकस नहीं कर पाते हैं। साथ ही,वह खोए खोए से रहने लगते हैं,मन में कई तरह के गलत विचार आने लगते हैं।

 •डिप्रेशन से कैसे करे बचाव – 

डिप्रेशन दीमक की तरह पुरुषो को अंदर ही अंदर खाए जाता है,अतः कुछ दिन काम को थोड़ा साइड कर दिमाग फ्रेश करने के लिए कहीं घूम आएं।

 मनोचिकित्सक की सहायता से इस परिस्थिति से निकला जा सकता है।

 डिप्रेशन से दूरी बनाने के लिए मेडिटेशन करें।

घर के सदस्य उसकी परेशानी को समझ कर डिप्रेशन से निकलने में उसकी मदद कर सकते हैं।

खुद को बिजी रखने का प्रयास करें अर्थात जब मन में गलत विचार आने लगे,तो कोई मोटिवेशनल सॉन्ग सुने या कोई पसंद की चीज करें।

डिप्रेशन कोई आम समस्या नहीं है,ये व्यक्ति को अंदर ही अंदर खोखला बनाए जाता है,एक समय ऐसा भी आता है जब इसके प्रभाव से व्यक्ति कोई गलत काम कर बैठता है,इसीलिए पुरुष को ऐसे लक्षण दिखे तो डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए। साथ ही अपनी बात किसी विश्वासपात्र से जरूर साझा करें, इससे मन थोड़ा हल्का महसूस होगा।

Share This Article
Leave a comment