चीन ने भारतीय खिलाड़ियों से किया भेदभाव,केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैंसिल किया चीन का दौरा

Asian Games India-China Tussle: भारत के तीन खिलाड़ियों को चीन की घटिया राजनीति का शिकार होना पड़ा,चीन ने तीन भारतीय खिलाड़ियों जो की अरुणाचल प्रदेश से आते हैं उन्हें एशियन गेम्स में एंट्री देने से मना कर दिया. इस मामले पर भारत सरकार ने भी अपना कड़ा रुख दिखाया।

Whatsapp Channel
Telegram channel
Asian Games India-China Tussle

Asian Games India-China Conflict: इस बार 19वें एशियाई गेम्स का आयोजन चीन के झांगहू में 23 सितंबर से स्टार्ट हो रहा है, जिसमे चीन ने अरुणाचल प्रदेश के तीन खिलाड़ियों को एंट्री लेने से रोक लगा दी है.

अब भारत सरकार भी इस मामले को हल्के में न लेकर कड़ा रुख इख्तियार कर रही है,और दिल्ली में स्थित चीनी दूतावास और बीजिंग में भारतीय दूतावास के माध्यम से इस विषय पर कड़ा विरोध किया गया।

एशियाई गेम्स में भारत के केंद्रीय खेल और युवा कल्याण मंत्री अनुराग ठाकुर भी वहां पहुंचने वाले थे,लेकिन इस घटना के बाद उन्होंने चीन का दौरा रद्द कर दिया है. 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची की तरफ से शुक्रवार (22 सितंबर ) को कहा गया कि हमेशा से ही चीन भारतीय नागरिकों से जातीयता के आधार पर ऐसा भेदभावपूर्ण व्यवहार करता रहा है. भारत इस तरह की वार्ताओं को अस्वीकार करता है. अरुणाचल प्रदेश भारत का ही एक अभिन्न और अविभाज्य अंग था, है और रहेगा.

क्या है ये मामला?

दरअसल, भारत के अरुणाचल से आने वाले तीन वूसू खिलाड़ियों को चीन की तरफ से एशियन गेम्स में शामिल होने से रोका गया है,और इसका कारण है की चीन अरुणाचल को अपना हिस्सा मानता है,साथ ही वहां रहने वाले नागरिकों को भारतीय कहने पर आपत्ती जताता है.

 ऐसा पहली बार नहीं बल्कि इससे पहले जुलाई में भी इसी तरह से अरुणाचल के खिलाड़ियों पर चीन ने रोक लगाई थी, जिसका भारत ने भी विरोध किया,अब दूसरी बार है जब चीन ने भारत के खिलाड़ियों से भेदभाव किया।

Leave a comment