​              विवादों में Nayanthara की फिल्म 'अन्नपूर्णी',भगवान राम को बताया था मांसाहारी, Netflix ने फिल्म को हटाया…
   
 

विवादों में Nayanthara की फिल्म ‘अन्नपूर्णी’,भगवान राम को बताया था मांसाहारी, Netflix ने फिल्म को हटाया…

Mkyadu
3 Min Read

एक्ट्रेस Nayanthara की फिल्म ‘अन्नपूर्णी’ विवादों में घिर चुकी है. इस फिल्म में कुछ ऐसे सीन थे जिसे लेकर विश्व हिंदू परिषद ने कड़ा विरोध जताया. जिसके बाद अब फिल्म के प्रोड्यूसर्स ने लोगो की भावनाओं को आहत करने के लिए सभी से माफ़ी भी मांगी है.

Whatsapp Channel
Telegram channel

फेमस एक्ट्रेस Nayanthara की फिल्म ‘अन्नपूर्णी’ को ओटीटी प्लेटफॉर्म netflix ने हटा दिया है. फिल्म पर हाल ही में एक बड़ा विवाद खड़ा हुआ था.

थिएटर्स में 1 दिसंबर को रिलीज हुई यह फिल्म, 29 दिसंबर को netflix पर आई थी.लेकिन हाल ही में फिल्म पर तब विवाद खड़ा हो गया जब इसपर ‘हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने’ के आरोप लगे।

धीरे धीरे ये विवाद इतना बढ़ा कि सोमवार को मुंबई में मेकर्स और कास्ट के खिलाफ एक केस भी फाइल किया गया. विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं के द्वारा फिल्म को बैन तक करने की मांग उठने लगी,उन्होंने नेटफ्लिक्स के मुंबई ऑफिस के बाहर जमकर प्रदर्शन भी किया था. अब बड़ी कार्यवाही करते हुए नेटफ्लिक्स ने फिल्म को हटा लिया है और साथ ही प्रोड्यूसर्स ने एक माफीनामा भी जारी किया है.

क्या है ये विवाद की वजह

फिल्म अन्नपूर्णी’ के कई सीन्स के चलते ये विवाद खड़ा हुआ,दरअसल, एक ब्राह्मण लड़की की कहानी फिल्म में दिखाई गई है, जो की पुजारी परिवार से आती हैं. लेकिन लड़की टॉप का शेफ बनना चाहती है और इसके लिए उसे नॉन वेज डिशेज कुक करना जरूरी रहता है. इसी पर लड़की का एक दोस्त उसे इन चुनौतियों से पार पाने में सहायता करता है।

नॉन वेज की वजह से हो रही हिचक दूर करने के लिए Nayanthara के किरदार को एक सीन में उसका दोस्त ऐसा कहता नजर आता है कि वनवास के समय भगवान राम और उनके भाई लक्ष्मण भी नॉन वेज खाया करते थे. नयनतारा नॉन वेज पकाने के लिए एक सीन के दौरान हिजाब पहने दिखती हैं.

फिल्म मेकर्स ने मांगी माफी

‘फिल्म के को-प्रोड्यूसर जी स्टूडियो के द्वारा अन्नपूर्णी’ विवाद पर, माफी मांगते हुए एक लेटर लिखकर बताया गया है कि फिल्म के कुछ विवादित सीन्स को जल्द हटाए जाएंगे और उसका एक एडिटेड वर्जन रिलीज किया जाएगा.

मेकर्स ने ऑफिशियल लेटर में लिखा, ‘ हिंदू और ब्राह्मण समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का हमारा इरादा नहीं था. भावनाओं को आहत करने और असुविधा के लिए हम माफी मांगते हैं.’

Share This Article