​              Lakshadweep vs maldives: भारत से पंगा लेना पड़ गया महंगा,अब राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू की जाएगी सत्ता..
   
 

Lakshadweep vs maldives: भारत से पंगा लेना पड़ गया महंगा,अब राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू की जाएगी सत्ता..

Mkyadu
4 Min Read

Lakshadweep vs maldives: चीन से नजदीकी कर और भारत से पंगा लेना maldives के राष्ट्रपति Mohammad Muizzu के लिए कड़वा घूंट साबित होने वाला है. मालदीव में सियासी भूचाल आ चुका है और अब उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कवायद शुरू हो चुकी है…..

Whatsapp Channel
Telegram channel

भारत को हल्के में लेकर में लेकर मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू (Mohammed Muizzu) ने खुद के पैरो पर कुल्हाड़ी मारी है, मालदीव का विपक्ष पहले ही भारत से रिश्तों में खटास लाने के कारण वहां की सरकार को दोषी मान रहा है और अब राष्ट्रपति मुइज्जू के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहा है।

वहां के संसदीय अल्पसंख्यक नेता अली अजीम के द्वारा maldives के President Mohammed Muizzu को हटाने की ये पहल की गई है.

मालदीव के नेताओं से उन्होंने मुइज्जू को सत्ता से बेदखल करने में मदद का आग्रह किया है. अली अजीम ने यह कहा है कि हमारी मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (MDP) पार्टी मालदीव की विदेश नीति में स्थिरता स्थापित रखने के लिए प्रतिबद्ध है.

किसी भी पड़ोसी देश को हम विदेश नीति से अलग-थलग नहीं होने देंगे. साथ ही अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं से उन्होंने पूछा है कि क्या वे President Muizzu के विरोध में अविश्वास प्रस्ताव लाने तैयार हैं.

टूरिज्म एसोसिएशन भी है नाराज

भारत से पंगा लेना मालदीव के लिए संकट का सबब बनता जा रहा है, भारी तादाद में भारतीय पर्यटक अपना बुकिंग कैंसिल कर रहे हैं और ट्रैवल कंपनियां भी तगड़ा विरोध कर रही है जिसके बाद अब मालदीव की टूरिज्म एसोसिएशन वहां के अपने मंत्रियों के बयान की कड़ी निन्दा की है.

मालदीव एसोसिएशन ऑफ टूरिज्म इंडस्ट्री (MATI) के द्वारा बयान जारी कर बताया गया है कि वह भारतीय PM और भारत के लोगों पर अपने मंत्रियों की ओर से की गई टिप्पणी की घोर निंदा करते हैं.

संकट में भारत ने की है मदद

मालदीव टूरिज्म एसोसिएशन ने आगे कहा कि,’भारत हमारा पड़ोसी और सबसे सहयोगी है. इतिहास में हमारा देश जब भी संकट में पड़ा है, भारत की तरफ से ही सबसे पहली प्रतिक्रिया सामने आई है.

सरकार के साथ हम सभी भारतीयों के भी आभारी हैं कि हमारे साथ उनके इतने घनिष्ठ संबंध हैं. भारत लगातार maldives के टूरिज्म क्षेत्र में भी अहम भूमिका निभाता आया है. भारत मालदीव के लिए एक बड़े बाजारों में से एक है.’कोविड-19 के बाद इससे हमारे टूरिज्म सेक्टर को उबरने में काफी सहायता मिली है।

मालदीव सरकार भारत से मांगे माफी

PM Modi पर किए गए टिप्पणी के बाद मालदीव के पूर्व उपराष्ट्रपति अहमद अदीब का भी इस मामले पर बयान समाने आया है. maldives सरकार से उन्होंने कहा है कि उनको भारत से माफी मांग लेनी चाहिए.

अदीब ने आगे कहा है कि पीएम मोदी के पास राष्ट्रपति मुइज्जू को जाकर इस राजनयिक संकट को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि भारतीय नेताओं पर ऐसी अपमानजनक टिप्पणी स्वीकार करने योग्य नहीं है.

Share This Article