​        बीच चौराहे बेटे को बेचने बैठा पिता, बताई ऐसा करने के पीछे की वजह..
   
 

बीच चौराहे बेटे को बेचने बैठा पिता, बताई ऐसा करने के पीछे की वजह..

Mkyadu
3 Min Read
Aligarh news

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़(Aligarh) से एक ऐसी चौकाने वाली तस्वीर सामने आई है,जिसे देखकर हर कोई अचंभित है.एक शख्स अपनी बीवी और दो बच्चों को साथ लेकर गले में बैनर लटकाए चौराहे पर बैठा हुआ है।

Whatsapp Channel
Telegram channel

उस बैनर में लिखा था- ‘मेरा बेटा बिकाऊ है, मुझे मेरा बेटा बेचना है.’असल में यह शख्स कर्ज से दबा हुआ है.लगातार वसूली करने वालों ने उन्हें परेशान कर दिया है जिसकी वजह से उसने ऐसा कदम उठाया।

Aligarh के थाना महुआखेड़ा इलाके का यह मामला है. जहां पर निहार मीरा स्कूल के पास के ही एक शख्स राजकुमार का आरोप है कि उसने कुछ लोगों से प्रॉपर्टी खरीदने के लिए उधार लिया हुआ था.

लेकिन पैसा देने वाले शातिर दबंगों ने कुछ हेराफेरी कर उन्हें कर्ज में बोझ दिया.साथ ही उन्होंने अपने पैसे निकलवाने के लिए उसकी सारी प्रॉपर्टी के कागजात को बैंक में रखवा कर लोन भी इश्यू करा लिया.जिसके बाद अब पीड़ित के पास कोई भी प्रॉपर्टी नहीं है और वो कर्ज में डूब गया है।

राजकुमार ने कहा कि उसे ना तो प्रॉपर्टी मिल पाई और ना कोई रुपया आया. फिर भी कर्जदार उसपर पैसे वसूलने का लगातार दबाव बना रहे हैं।

राजकुमार का ये भी आरोप है कि कुछ दिन पहले ही उन दबंगों ने उससे उसका ई रिक्शा भी हड़प लिया,उसी से वह अपने परिवार का भरण पोषण करता था.

राजकुमार के अनुसार, वह अब इतना हताश हो गया है कि उसे बस स्टैंड चौराहे पर अपने बेटे को बेचने के लिए बैठना पड़ रहा है. राजकुमार के इस कदम से मामला सभी के संज्ञान में आया है।

राजकुमार कहते हैं कि- मेरे बेटे को यदि कोई 6 से 8 लाख रुपये खरीद लेगा,तो इससे मैं अपनी बेटी को पढ़ा सकूंगा. उसकी शादी व अपने परिवार को पाल पोस पाऊंगा।

पुलिस ने दोनो पक्षों में कराया समझौता

राजकुमार ने दावा किया है कि वह स्थानीय पुलिस के पास भी इस मामले को लेकर गया था लेकिन उसे कोई सहायता नहीं मिल पाई.इसी वजह से उसे मजबूरी में ऐसा कदम उठाना पड़ा.

हालांकि, करीब घंटे भर बाद राजकुमार और उसके परिवार को पुलिस अपने साथ लेकर गई।साथ ही दोनों पक्ष के लोगों को थाने में बुलाकर समझौता कराया गया।

TAGGED:
Share This Article